swami-face

अनुभूति आत्मा की आवाज़ है । देहादि को अनात्मा सिद्ध किया गया है । दृश्य और द्रष्टा विचारणीय हैं । शरीरादि में मम भाव है अहं पर सबका अध्यास है । 

हरि ऊँ !

Menu
WeCreativez WhatsApp Support
व्हाट्सप्प द्वारा हम आपके उत्तर देने क लिए तैयार हे |
हम आपकी कैसे सहायता करे ?