ezimba_new

आध्यात्मिकता और भौतिकता परस्पर संबद्ध हैं। आदमी जो भी प्रवृत्ति करता है, उसमें सफल होना चाहता है। सफलता के लिए सम्यक दृष्टि और सम्यक प्रयत्न की आवश्यकता होती है। इसके बिना सफलता नहीं प्राप्त की जा सकती। 

हरि ऊँ ! 

Menu
WeCreativez WhatsApp Support
व्हाट्सप्प द्वारा हम आपके उत्तर देने क लिए तैयार हे |
हम आपकी कैसे सहायता करे ?