ezimba_new_lo
अज्ञान का नाश तत्व ज्ञान के द्वारा ही संभव है। तत्व ज्ञान होने पर मिथ्या ज्ञान स्वयं निवृत्त हो जाता है जैसे रज्जु के ज्ञान से सर्प का ज्ञान स्वयं निवृत्त हो जाता है।
हरि ऊँ!

Menu
WeCreativez WhatsApp Support
व्हाट्सप्प द्वारा हम आपके उत्तर देने क लिए तैयार हे |
हम आपकी कैसे सहायता करे ?